सर्किट हाउस में प्रेमिका संग फर्जी विधायक

प्रशासन की आंखों में धूल झोक कर करता रहा रंगरैलियां

पूजा श्रीवास्तव
भोजपुर। फर्जी विधायक बन कर सर्किट हाउस को अपने नाम से बुक करा लिया और सात रोज तक जिला प्रशासन की आंखो में धूल झोक कर अपनी प्रेमिका के साथ रंगरैली मनाते रहा। मामला बिहार के भोजपुर का है। मामले का खुलासा तब हुआ, जब उस फर्जी विधायक की पत्नी उसे खोजते हुए सर्किट हाउस पहुंच गई। लेकिन तब तक फर्जी विधायक अपनी प्रेमिका के साथ फरार हो चुका था।

बतातें चलें कि झारखंड की राजधानी रांची के धुर्वा निवासी अमरेंद्र कुमार सिंह नामक एक मसाला व्यापारी ने बीती 14 दिसंबर को विधायक बनकर भोजपुर के जिलाधिकारी के ओएसडी को फोन किया और सर्किट हाउस का एक कमरा अपने लिया बुक करा लिया। इसके बाद 16 दिसंबर को वह फर्जी विधायक एक युवती को अपना पत्नी बता कर आरा स्थित सर्किट हाउस पहुंचा और सात दिनों तक उस महिला के साथ अलग-अलग कमरों में रहकर रंगरेलियां मनाता रहा।
जब 31 दिसंबर को कथित फर्जी विधायक अमरेंद्र की पत्नी शालिनी देवी ने वहां पहुंचकर लोगो को बताया कि वह अमरेंद्र कुमार सिंह की पत्नी है, तब जाकर इस राज से पर्दाफास हो गया। शलिनी की माने तो अमरेंद्र न तो विधायक है और नाही कभी कोई जनप्रतिनिधि ही रहा है। अमरेंद्र मूल रूप से जयप्रकाश नगर, पटना का निवासी है। पहले वह रांची के धूर्वा में रहता था। उसके पिता विधानसभा में जॉब करते थे। शलिनी का अमरेंन्द्र से 11 साल पहले प्रेम विवाह हुआ था। उनकी एक सात वर्ष की बेटी है।
महिला की शिकायत पर नवादा थाने की पुलिस जांच के लिए सर्किट हाउस पहुंची। किंतु, इससे पहले ही अमरेंद्र अपना सामान सर्किट हाउस में ही छोड़कर वहां से अपनी प्रेमिका के साथ फरार हो चुका था। फर्जी विधायक की पत्नी शालिनी ने बताया कि जिस युवती के साथ अमरेंद्र सर्किट हाउस में मौज-मस्ती कर रहा था, वह पश्चिम बंगाल के आसनसोल की रहने वाली है।

%d bloggers like this: