पोस्टमार्टम के बाद टांका लगाना भूल गए डॉक्टर

हंगामे के बाद स्वीपर ने की सिलाई

मध्य प्रदेश। स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली का एक और बेहद चौंकाने वाला और शर्मनाक मामला सामने आया है। दरअसल, पोस्टमार्टम के बाद एक महिला के शव को बगैर टांके लगाए ही परिजनों को सौंप दिया गया। बाद में इसका खुलासा होने पर एक स्वीपर को घर पर भेजा गया, जिसने किचन में शव की सिलाई करके कोरम पूरा कर दिया।
मामला राजधानी भोपाल से सटे विदिशा जिले का है। यहां पगरानी गांव में 32 वर्षीय नीता शर्मा की करंट लगने से मौत हो गई थी। मेडिको लीगल केस होने की वजह से पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अपने कब्जे में लिया। स्थानीय सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम भी किया गया, किंतु, चिकित्सक टांका लगाना ही भूल गये और महिला का शव उसके परिजनों को शव सौंप दिया गया।
अंतिम संस्कार के दौरान इसका खुलासा हुआ। इसके बाद परिजनों ने जमकर हंगामा शुरू कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही अस्पताल से एक स्वीपर भेजा गया और इस स्वीपर ने घर के किचन में बैठकर शव को टांके लगाए। बताया जा रहा है कि महिला के शव को टांके लगाने के लिए एक बुजुर्ग स्वीपर को भेजा गया था। स्वीपर की नजरें इतनी कमजोर थी कि वह सुई में धागा भी नहीं डाल पा रहा था। चौंकाने वाली बात ये भी है कि टांके लगाने के लिए घर के ही सुई-धागे का प्रयोग किया गया। हालांकि, बीएमओ विवेक अग्रवाल ने शव में टांके नहीं लगाने के आरोपों को खारिज करते हुए बताया कि शव को ले जाने के दौरान रास्ते में टांका खुल गया होगा।