एक परिवार, जिसने बिहार को लाया सुर्खियों में

परिवार के 96 लोग रहतें हैं एक साथ

पूजा श्रीवास्तव

बिहार। एकल परिवार को लेकर बिहार एक बार फिर से सुर्खियों में है। मामला रोहतास जिले के काराकाट प्रखंड अन्तर्गत सोनवर्षा गांव की है। यहां श्यामदेव सिंह का एक परिवार रहता है। दरअसल, इस परिवार में कुल 96 सदस्य है। श्यामदेव सिंह सोनवर्षा पंचायत के मुखिया भी रह चुकें हैं। वर्तमान में यह परिवार समाज और एकल परिवार की हिमायती नई पीढ़ी के लिए एक सीख है।

परिवार के अधिकतर सदस्य गांव में ही रहते हैं। खेती-बाड़ी परिवार का मुख्य पेशा है। हालांकि, घर के कुछ लोग सरकारी टीचर और अन्य नौकरी में हैं। लेकिन, घर में किसी भी तरह के यदि कार्य होने पर सपरिवार एक साथ बैठकर निर्णय लिया जाता है। लेकिन, अंतिम निर्णय श्यामदेव सिंह का ही होता है। चार भाईयों में श्यामदेव सबसे बड़े हैं। शाम ढलते ही पंचायत के पूर्व मुखिया श्यामदेव सिंह को अपने परिजनों की चिंता सताने लगती है।
परिवार का फलां आदमी कहा है, क्या कर रहा है, कब आएगा? घर के सदस्यों की जानकारी दालान में बैठकर लेने लगते हैं। जब तक परिवार के सभी सदस्य आ नहीं जाते या उनके बारे में सही बात मालूम नहीं कर लेते, तब तक उन्हें सुकून नहीं मिलता। इसके बाद ही वे सोते हैं। पूर्व मुखिया के परिवार का भोजन एक ही चूल्हे पर पकता है। परिवार के अधिकतर सदस्य एक साथ बैठकर खाना खाते हैं। उसी समय सुबह के काम के बारे में भी चर्चा हो जाती है। घर की महिलाओं की जिम्मेवारी होती है, खाना बनाने से लेकर परोसने तक।

%d bloggers like this: