बच्चों को खेल का मिले अधिकार तेंदुलकर

राज्यसभा में बहस की तैयारी

नई दिल्ली। क्रिकेट के भगवान कहलाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर अब एक और पारी खेलने का मन चुकें हैं। हालांकि इस बार वह मैदान में नहीं बल्कि राज्यसभा में अपनी पारी खेलने की तैयारी में है। दरअसल, तेंदुलकर देश के बच्चो के लिए ‘खेलने का अधिकार’ कानून लाना चाहतें है और इसके लिए उन्होंने राज्यसभा से कानून बनाने को कहेंगे।

राज्यसभा का सांसद बनने के बाद से ही तेंदुलकर पर सांसद की कार्यवाही में हिस्सा नहीं लेने का आरोप लगता रहा है। बहरहाल, सांसद तेंदुलकर ने ‘खेलने का अधिकार’ और ‘देश में खेल का भविष्य’ विषय पर बहस के लिए अपना नोटिस दे दिया है। अप्रैल 2012 में तेंदुलकर को सांसद चुना गया था। ये पहला मौका होगा, जब तेंदुलकर किसी मुद्दे पर बहस में शामिल होंगे। तेंदुलकर के नोटिस के मुताबिक वो चाहते हैं कि एजुकेशन सिस्टम में कानूनी तौर पर खेल को शामिल किया जाए।