पूर्वोत्तर में वज्रपात से 35 मौतें

आंधी-बारिश और वज्रपात के कारण पूर्वोत्तर के राज्य बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश में जबरदस्त तबाही का आलम है। आंधी-बारिश और वज्रपात के कारण अब तक 35 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में बिहार के 17, झारखंड के 13 और यूपी के 5 लोग शामिल हैं।

बिहार के कई जिलों में सोमवार को तेज आंधी के साथ झमाझम बारिश हुई। गया के खिजरसराय में बारिश के कारण हुए हादसों में 12 साल की एक बच्ची समेत चार लोगों की मौत हो गई। कटिहार में पेड़ गिरने से चार लोगों की मौत हो गई और करीब छह लोग घायल हो गए।
रोहतास में तेज आंधी में बिजली पोल के नीचे दबने से शिवपूजन राम नामक एक व्यक्ति की मौत हो गई। औरंगाबाद के दो प्रखंडों में आसमानी बिजली की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई और एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया। वहीं नवादा में एक किशोरी समेत दो लोगों की बारिश के कारण हुए हादसों में मौत हो गई। मुंगेर में वज्रपात से दो बच्चों की मौत हो गई।
झारखंड में पिछले 24 घंटे में वज्रपात से 13 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए। मृतकों में चतरा के चार, रांची के तीन, पलामू व रामगढ़ के दो-दो और हजारीबाग व लोहरदगा के एक-एक लोग शामिल हैं। चतरा के लावालौंग के दीपुटांड़ में रविवार देर रात एक कच्चे मकान पर आसमानी बिजली गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई, जबकि चार लोग घायल हो गए।
उधर, यूपी के कानपुर और आसपास के जिलों में सोमवार दोपहर बाद आंधी-बारिश से पारा गिरने से जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली, वहीं उन्नाव और कानपुर में बारिश के कारण हुए हादसों में पांच लोगों की मौत हो गई। उन्नाव में तेज आंधी के बाद आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दो लोगों की जान चली गई जबकि दो लोगों की बारिश के कारण हुए हादसे में मौत हो गई। वहीं कानपुर में भी आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक किसान की मौत हो गई।

%d bloggers like this: