मीनापुर में भीषण सड़क हादसा, नौ स्कूली छात्रो की दर्दनाक मौत

आक्रोशित लोगो ने एनएच 77 को पांच घंटा जाम रखा

मुजफ्फरपुर। मीनापुर थाना के धरमपुर के समीप हुए भीषण सड़क हादसा में शनिवार को नौ स्कूली छात्रों की मौत हो गई और दस अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गए। सभी जख्मी का एसकेएमसीएच में इलाज चल रहा है। घटना दोपहर करीब एक बजे की है। गुस्साए लोगो ने एनएच 77 पर टायर जला कर मुफ्फरपुर सीतामढ़ी सड़क को जाम कर दिया है। इससे हजारो की संख्या में यात्री सड़क पर ही फंसे हुएं हैं। करीब पांच घंटा तक जाम रहने के बाद शाम छह बजे में मुजफ्फरपुर के डीएम धर्मेन्द्र कुमार व एसएसपी विवेक कुमार के हस्तक्षेप से आवागमन बहाल हो गया है।

इस बीच डीएम ने मृतक छात्र के परिजनो को प्रति परिवार चार- चार लाख रुपये का मुआवजा देने व जख्मी छात्रो का सरकारी खर्चे में इलाज कराने की घोषणा की है। ग्रामीणो की मांग पर डीएम ने धरमपुर विद्यालय के समीप एनएच 77 पर स्पीडब्रेकर बनाने की भी बात कही है।
बताया जा रहा है कि मरने वाले सभी बच्चे धमरमपुर मध्य विद्यालय के है। शनिवार होने के कारण आज दोपहर करीब साढ़े 12 बजे में ही विद्यालय से छुट्टी हो गई थी। इसके बाद सभी छात्र छात्राएं कतारबद्ध होकर सड़क किनारे से पैदल चलते हुए अपने घर जाने लगे। इस बीच एक तेज रफ्तार बोलेरो ने विद्यालय के समीप पहुंचते ही पहले एक महिला को ठोकर मारी। इसके बाद बोलेरो अनियंत्रित हो गया और कतार में जा रहे स्कूली छात्रो को एक के बाद एक करके रौदना शुरू कर दिया।
बाद में अनियंत्रित बोलेरो एनएच के किनारे गड्डा में पलट गयी। बोलेरो पर मनोज बैठा, प्रदेश महामंत्री, दलित प्रकोष्ट, भाजपा लिखा हुआ है। घटना से गुस्साए लोगो ने बोलेरो में जम कर तोड़फोड़ कर दिया है। घटना के बाद विद्यालय के सभी शिक्षक आनन फानन में विद्यालय छोड़ कर भाग खड़े हुए है। इस बीच ग्रामीणो ने एक शिक्षक के बाइक को अपने अपने कब्जे में लेकर उसमें भी तोड़फोड़ कर दी। गुस्साए ग्रामीण विद्यालय के बेंचडेस्क को सड़क पर रख कर उसमें आग लगा दी है। थाना अध्यक्ष सोना प्रसाद सिंह ने बताया कि घटना के बाद बोलेरो का चालक फरार हो गया है। हालांकि, पुलिस ने दुर्घटनाग्रस्त बोलेरो को अपने कब्जे में ले लिया है।
इस बीच धरमपुर गांव में कोहराम मच गया। मृतक छात्र के परिवार में अफरा तफरी को माहौल उत्पन्न हो गया। महिला दहाड़े मार मार रोने लगी। पूरा गांव गम और गुस्सा में डूबा हुआ है। ग्रामीणो में विद्यालय प्रशासन के प्रति भी जबरदस्त आक्रोश देखा जा रहा है।

%d bloggers like this: