रिश्वत का आफर देने पहुंचे इलायची बाबा की धुनाई

जेल मे बंद पुलिस इंस्पेक्टर के कथित बिचौलिया को दौड़ा कर पीटा/ चौकीदार की पत्नी ने भी लगाया मारपीट का आरोप/ चौकीदार के परिवार पर दबाब बनाना पड़ा महंगा/ केश के सारा इल्जाम अपने उपर लेने के लिए दे रहे थे पैसो का लालच/ इलायची बाबा का कालर पकड़ कर ले गये इंस्पेक्टर कार्यालय/ पीछवाड़े मे ले जाकर कर दी धुनाई

संतोष कुमार गुप्ता

मीनापुर। चार जनवरी को दस हजार रूपये घूस लेते दबोचे गये मीनापुर के सर्किल पुलिस इंस्पेक्टर रमेशदत्त पांडे के लिए पैरवी करना हरशेर गांव के उमाशंकर सिंह उर्फ इलायची बाबा को महंगा पड़ा। पैसे का लालच दिये जाने से नाराज चौकीदार अजय पासवान के परिजनो ने इलायची बाबा को दौड़ा दौड़ा कर पीटा। आधा घंटा तक प्रखण्ड मुख्यालय से लेकर पुलिस इंस्पेक्टर कार्यालय रणक्षेत्र बना रहा।

चौकीदार अजय पासवान की पत्नी दुलारी देवी का कहना था कि रिश्वत पुलिस इंस्पेक्टर रमेशदत्त पांडे ने लिया। वावजूद उनके निर्दोष पति बहवल बाजार गांव के चौकीदार अजय पासवान को विजिलेंस ने गिरफ्तार कर लिया। क्योकि इंस्पेक्टर ने उन्ही को पैसा रखने के लिए दिया था। अभी भी उसका पति जेल मे बंद है। मंगलवार की दोपहर बारह बजे वह दरवाजा पर खड़ी थी तो उसके लड़के के माध्यम से हरशेर गांव के उमाशंकर सिंह उर्फ इलायची बाबा ने बुलावा भेजा। जब ब्लॉक गेट पर पहुंचे तो उमाशंकर चाय के दुकान मे बैठा था। जब मैैने उनसे पूछा की हमको क्यो बुलवाये है तो उसने कहा कि अपने पति अजय पासवान से बोलो कि वह रिश्वत लेने का इल्जाम अपने उपर ले ले। इसके बदले मे हम तुम्हे पचास हजार रूपया देंगे। इसके बाद मैने बोला की मेरे पति निर्दोष है.घुस का पैसा इंस्पेक्टर साहेब लिये थे। मेरे पति ने नही। इस पर उमाशंकर सिंह उबल पड़ा,और बोलने लगा की पचास हजार रूपया महकता है। उसने जातीसुचक शब्द का भी इस्तेमाल किया। जब मैने इसका विरोध किया तो लप्पड़ थप्पड़ मारने लगा।
जगह बदलकर बदलकर पीटा
हरशेर गांव के उमाशंकर सिंह उर्फ इलायची बाबा को सबसे पहले महिलाओ ने ब्लॉक गेट के पास चाय दुकान मे खुब गाली दिया। उस पर थप्पड़ भी चला। बाद मे कॉलर पकड़ कर घसिटते हुए सर्किल इंस्पेक्टर के कार्यालय मे ले गये। वहां पर आधा घंटा तक बंधक बनाये रखा। जिस समय वहां घटना हो रही थी उस वक्त पुलिस इंस्पेक्टर कार्यालय मे मुंशी परवेज अालम व सिवाइपट्टी थाना के जमादार रामबाबू मौजूद थे। कुछ सफेदपोश लोग भी मौजूद थे। महिला व बच्चो ने उमाशंकर सिंह को बाल पकड़ कर झुलाने लगे। बाद मे महिलाओ ने प्रखण्ड मुख्यालय के समीप पुलिस इंस्पेक्टर कार्यालय के पीछवाड़े मे उमाशंकर सिंह को ले गये। वहां जमकर धुनाई की। आधा घंटा बितने के बाद दरोगा एसएन सिंह व जमादार प्रफुल्ल कुमार के नेतृत्व मे मीनापुर पुलिस की दो गश्ती वाहन पहुंचा। पुलिस ने उमाशंकर को अपने कब्जे मे ले कर थाने आ गयी। कुछ देर बाद प्रशिक्षु आइएएस सह बीडीओ वर्षा सिंह ने पहुंच कर घटना की जानकारी ली।
निशाने पर थे इलायची बाबा
पुलिस इंस्पेक्टर रमेशदत्त पांडे के पैरवी को लेकर कुछ दिनो से उमाशंकर सिंह उर्फ इलायची बाबा चौकीदार अजय पासवान के परिजनो के निशाने पर थे। एक सप्ताह पूर्व चौकीदार अजय के पुत्र गौतम पासवान ने एसएसपी को आवेदन देकर कर कई खुलासे किये थे। जिसमे आरोप लगाया था कि रमेशदत्त पांडे के भाई भतिजा के साथ उमाशंकर सिंह उसके घर पर स्कार्पियो से पहुंचे। धमकी दिया कि केश का सारा इल्जाम अपने उपर ले लो वरना बुरा होगा।
उमाशंकर ने आरोपो को बेबुनियाद बताया
हरशेर गांव के उमाशंकर सिंह उर्फ इलायची बाबा ने बताया कि उनके उपर सारा आरोप बेबुनियाद है। वह किसी काम के सिलसिले मे प्रखण्ड मुख्यालय पर बैठे थे कि हमला कर दिया गया। वह केश की पैरवी मे नही आये थे। ना ही उस केश मे कोई गवाही नही दे रहे है। दुसरी ओर चौकीदार की पत्नी दुलारी देवी ने उमाशंकर पर प्राथमिकी के लिए मीनापुर थाने मे आवेदन दिया है। पुलिस इंस्पेक्टर सोना प्रसाद सिंह ने बताया कि दुलारी देवी ने मीनापुर पुलिस को लिखित आवेदन दिया है। उसका कहना है कि सर्किल इंस्पेक्टर रमेशदत्त पांडे के परिजन और उमाशंकर सिंह उन पर केश को लेकर वेवजह दबाब बनाते है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। हरशेर गांव के उमाशंकर सिंह को पुलिस हिरासत मे ले कर पूछताछ कर रही है।

%d bloggers like this: