सैलून संचालक की गला दबा कर हत्या

एक ही परिवार के एक महिला सहित चार लोगो पर प्राथमिकी दर्ज

बिहार के मुजफ्फरपुर जिला अन्तर्गत सिवाईपट्टी थाना के सुरजन पकड़ी गांव के चौर से मंगलवार की सुबह सैलून संचालक 45 वर्षीय दिनेश ठाकुर का शव मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गयी। सुरजन पकड़ी गांव निवासी दिनेश की गला दबा कर हत्या की गई है। वह सोमवार की शाम सब्जी खरीदने के लिए बनघारा बाजार आया था और मंगलवार की सुबह उसका शव मिलने से लोग भड़क गये। गुस्साए लोगो ने कड़चौलिया और मंगेया के समीप दो स्थान पर शिवहर स्टेट हाईवे को जाम कर दिया और सड़क पर ही टायर जला कर हत्यारे के गिरफ्तारी की मांग करने लगे।

[embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=OalinL_tAgw[/embedyt]

आरोपित फरार
ग्रामीणो के द्वारा साढ़े सात घंटा तक सड़क पर प्रदर्शन करने के बाद पुलिस ने मृतक की पत्नी मालती देवी के बयान चार लोगो पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज करके दोपहर ढ़ाई बजे में शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया है। थाना अध्यक्ष औरंगजेब आलम ने बताया कि दर्ज एफआईआर में हत्या आरोपित सुरजन पकड़ी गांव के विजय चौधरी, उसकी पत्नी ममता कुमारी और पुत्र रवि रंजन चौधरी व शशि रंजन चौधरी की तलाश में पुलिस ने छापामारी शुरू कर दी है। हालांकि, सभी आरोपित पुलिस के पहुंचने से पहले ही घर छोड़ कर फरार हो गया है।
घटनास्थल से मिला संदिग्ध समान
इससे पहले घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने घटनास्थल से दो खाली ग्लाश, एक चम्मच, कोल्डड्रिंक्स का एक खाली बोतल और जाइम का एक खाली बोतल सहित मृतक का साईकिल बरामद कर लिया है। बाद में डॉग एसक्वायड की टीम भी मौके पर पहुंच कर छानबीन में जुट गई। इस बीच मुजफ्फरपुर पूर्वी डीएसपी डॉ. गौरव पांडेय ने मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है। वहीं, विधायक मुन्ना यादव सुरजन पकड़ी पहुंच कर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया है। बतातें चलें कि मृतक के गले में गमछा बंधा हुआ था। लिहाजा, पुलिस के अधिकारी यह अनुमान लगा रहें हैं कि गला दबा कर उसकी हत्या की गई है। हालांकि, हत्या का असली कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा।
दिनेश नेपाल में सैलून चलाता था
मृतक के पुत्र ओम प्रकाश ने बताया कि दिनेश ठाकुर नेपाल के डांगर जिला अन्तर्गत तुलसीपुर में सैलून चलाते थे। दो सप्ताह पहले ही वह घर आये थे और सोमवार की शाम सब्जी खरीदने के लिए सुरजन पकड़ी स्थित अपने घर से बनघारा बाजार गये थे। मृतक के भतिजा कमल किशोर ने बताया कि शाम के छह बजे तक उनको बनघारा बाजार पर देखा गया था। इसके बाद से वे लापता हो गए। मध्य रात्रि तक घर नहीं लौटने के बाद परिजनो ने खोजबीन भी की। पर, कहीं पता नहीं चला। आज सुबह घास काटने के लिए चौर में गए मजदूरो की नजर शव पर पड़ी।
मृतक का आरोपित से था पुराना विवाद
सिवाईपट्टी के थाना अध्यक्ष औरंगजेब आलम ने बताया कि दिनेश ठाकुर का गांव के ही विजय चौधरी के साथ पुराना दुश्मनी था और दोनो के बीच दो बार मारपीट की घटना भी हो चुकी है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2017 के फरबरी और नवम्बर में दोनो के बीच मारपीट हो चुकी है और दोनो ओर से सिवाईपट्टी थाना में इसका एफआईआर भी दर्ज है। गांव के एक व्यक्ति ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि दिनेश के नेपाल से लौटने का विजय चौधरी पहले से इंतजार कर रहा था और सोमवार की शाम उसको मौका भी मिल गया।

%d bloggers like this: