जमीन विवाद में टेंट कारोबारी को मारी गोली

KKN Live का न्यूज एप प्लेस्टोर से डाउनलोड कर सकतें हैं। इस न्यूज एप पर आपको एक साथ सभी खबरो का अपडेट मिल जायेगा।

मुजफ्फरपुर। सिवाईपट्टी थाना के बनघारा में टेंट कारोबारी सिरचन भगत की हत्या करीब 1.12 कट्ठठा जमीन के लिए हुई। गांव के ही एक कमीशन एजेंट उसपर जमीन बेचने व कमीशन देने को लेकर दबाव बना रहे थे। लेकिन, कमीशन एजेंट के माध्यम से उक्त जमीन को बेचने से उसकी पत्नी ने रोक दिया था। इस संबंध में सिरचन के पिता दशई भगत ने शनिवार की शाम एफआईआर दर्ज कराई है।

सिवाईपट्टी के थाना अध्यक्ष औरंगजेब आलम ने बताया कि दर्ज एफआईआर में बनघारा के हितलाल भगत, जीतलाल भगत व राजकिशोर भगत को आरोपित बनाया गया है। पुलिस राजकिशोर भगत की मां को हिरातस में लेकर पूछताछ कर रही है। वहीं तीनों आरोपित घर छोड़कर शुक्रवार रात से ही फरार है। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। लेकिन, अबतक पुलिस को उनका सुराग नहीं मिल सका है।
डीएसपी ने शुरू की जांच
डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय ने घटनास्थल पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है। इसक्रम में पुलिस को घटनास्थल से खोखा तो नहीं मिला। लेकिन, मौके पर खून के धब्बा मिला है। पुलिस ने खून लगे कपड़ा को जब्त कर लिया है। बताया जाता है कि इसका फॉरेंसिक लैब में जांच कराया जाएगा। डीएसपी ने आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर एक विशेष टीम का भी गठन किया है।
मृतक की पत्नी ने खोला राज
सिरचन की पत्नी अनिता ने पुलिस को बताया कि शिवहर सड़क किनारे उसकी एक जमीन है। जिसका 1.12 कट्ठटा रकवा है। सिरचन कारोबार बढ़ाने के लिए उसे बेचना चाहता था। ग्रामीण हितलाल भगत जमीन का एक ग्राहक भी तलाश करके लाया था। दस लाख रुपये में सौदा भी हुआ था। इसके बदले हितलाल सिरचन से कमीशन मांग रहें थे। वहीं, अनिता ने सिरचन को हितलाल के द्वारा लाए गए ग्राहक से जमीन बेचने से रोक दिया। इसे लेकर दोनों के बीच मनमुटाव हो गया। पूर्व में हितलाल के पास सिरचन का मोटी रकम भी बकाया था।
सिरचन ने खरीदा बोलेरो व पिकअप
सिरचन बीते चार साल से नऊरा स्थित अपने ससुराल में परिवार के साथ रहता था। वहीं रहकर टेंट का कारोबार कर रहा था। इसके विस्तार के लिए बनघारा स्थित अपनी पैतृक संपत्ति को बेचना चाहता था। शुक्रवार को बनघारा के महादेव भगत के पुत्री की विवाह में सिरचन टेंट का काम करने के लिए बनघारा आया हुआ था।
हीतलाल के बुलाबे पर गया था सिरचन
मृतक की मां जानकी देवी ने बताया कि शुक्रवार की शाम को सिरचन अपने दरबाजे पर बैठा हुआ था। तभी हितलाल चादर ओढ़ कर आया व उसे अपने साथ ले गया। घटना के बाद हितलाल अपने एक साथी राजकिशोर भगत के साथ उसे इलाज के लिए स्थानीय चिकित्सक के पास ले गया था। डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद दोनों ने मिल कर सिरचन के शव को उसके दरबाजे पर फेंक कर बाइक से भाग निकला।
मृतक के परिजन के लिए विधायक ने मांगा मुआवजा
सिवाईपट्टी थाना के बनघारा गांव पहुंच करव विधायक मुन्ना यादव ने सिरचन भगत के परिजनो को ढ़ाढस बंधाया और इस हत्याकांड की कड़ी शब्दो में निंदा करते हुए सिवाईपट्टी पुलिस से इसके लिए दोषी लोगो को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है। बाद में विधायक श्री यादव ने मीडिया के माध्यम से सरकार से मृतक के परिजन को पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की मांग की है।

%d bloggers like this: