केरल में बिशप के खिलाफ बयान देने वाले फादर की संदिग्ध मौत

केरल नन रेप

केरल के चर्चित नन रेप केस के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बयान देने वाले फादर कुरियाकोस कट्टूथारा की मौत हो गई है और पुलिस ने जालंधर से संदिग्ध अवस्था में उनका शव बरामद करके मामले की जांच शुरू कर दी है। फादर कुरियाकोस की उम्र करीब 62 साल थी। बतातें चलें कि फादर कुरियाकोस दसुया के सेंट पॉल्स चर्च में रहते थे और वहीं से उनका शव बरामद किया गया है।

शरीर पर नहीं मिले चोट के निशान

हालांकि, पुलिस के द्वारा की गई प्रारंभिक जांच में उनके शरीर पर किसी चोट के निशान नहीं पाए गए हैं। पुलिस को मौका-ए वारदा से ब्लड प्रेशर की गोलियां मिली हैं। वहीं उनके बिस्तर पर उल्टी करने के निशान हैं। मालूम पड़ता है कि मरने से पहले उनको बहुत ज्यादा उल्टियां हुई होंगी। स्मरण रहें कि नन से रेप के आरोपित बिशप हाल ही में जमानत पर रिहा होकर बाहर आया था।

जमानत पर है आरोपित बिशप

बतातें चलें कि नन से रेप के आरोपित बिशप को इसी महीने की 15 अक्टूबर को केरल हाईकोर्ट ने सशर्त जमानत दी गई थी। केरल हाईकोर्ट ने कुछ शर्तों को निर्धारित किया है। शर्त के मुताबिक पुलिस जांच पूरी होने तक बिशप फ्रैंको मुलक्कल को केरल में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई थी। इसके अलावा बिशप मुलक्कल को अपना पासपोर्ट भी अदालत के समक्ष सरेंडर करना पड़ा था। जमानत मिलने के बाद मुलक्कल 17 अक्टूबर को ही जालंधर पहुंचा और उसके जालंधर पहुंचने के पांच दिन बाद ही फादर की संदिग्ध अवस्था में मौत की खबर आई है।

%d bloggers like this: