मधु की निशानदेही पर हिरासत में आया डॉक्टर

मधु

बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर के सेल्टर होम कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु कुमारी उर्फ सजिस्ता प्रवीण ने के बयान के आधार पर सीबीआई ने डॉक्टर अश्विनी कुमार को गिरफ्तार किया है। डॉक्टर अश्विनी पर बालिका गृह की लड़कियों को नियमित तौर पर नशीले इंजेक्शन लगाने का आरोप है। स्मरण रहे कि मंगलवार को मुजफ्फरपुर की सीबीआई अदालत में मधु ने आत्मसमर्पण किया था।

 

मिल सकता है अहम सुराग

मधु का सरेंडर करना काफी अहम माना जा रहा है। बतातें चलें कि जब से मुजफ्फरपुर कांड सामने आया मधु अंडरग्राउंड हो गई थी। स्मरण रहें कि बालिका गृह में कम से कम 30 लड़कियों का खौफनाक तरीके से यौन शोषण करने का सनसनीखेज मामला सामने आने के बाद से पुलिस को मधु की तलाश थी। बताया जा रहा है कि बालिका गृह की हर गतिविधियों की जानकारी मधु को है। सीबीआई ने पूछताछ के लिए मधु को रिमांड पर ले लिया है। सीबीआई मधु से उसके छिपकर रहने के अलग-अलग ठिकाने और बालिक गृह की गतिविधियों के बारे में जानकारियां निकलवाने का प्रयास कर सकती है।

नबालिक को सिखाती थी गंदा काम करने का तरीका

आरंभिक पूछताछ के दौरान जांच एजेंसी को यह पता चला कि वह बालिका गृह की नाबालिग लड़कियों को सिखाती की सेक्स कैसे करें। हालांकि, आत्मसमर्पण करने से पहले संवाददाताओं से बात करते हुए मधु ने कहा कि वह निर्दोष है और उसका नाम एफआईआर में नहीं है। दूसरी ओर सीबीआई ने मधु को पॉक्सो एक्ट के तहत कोर्ट में पेश किया और अब कोर्ट के आदेश पर रिमांड में लेकर उससे पूछताछ की जा रही है।