मंदसौर गैंगरेपः दरिंदों ने मासूम को दिए अनगिनत जख्म

मध्य प्रदेश। मध्य प्रदेश के मंदसौर में बलात्कार के दौरान सात वर्षीय स्कूली बच्ची के साथ जो कुछ हुआ, उससे लोगो का आक्रोश भड़क गया है। यौन हमलावरो ने बच्ची के साथ न सिर्फ अपने वासना की भूख मिटाई, बल्कि उसके नाजुक अंगो को भी क्षत-विक्षित कर दिया।

एमवायएच में बच्ची का इलाज कर रहे एक डॉक्टर की माने तो यौन हमलावर ने गैंगरेप के दौरान बच्ची के सिर, चेहरे और गर्दन पर धारदार हथियार से हमला किया था। साथ ही, उसके नाजुक अंगों को गंभीर चोट पहुंचायी। इसे मेडिकल की भाषा में फोर्थ डिग्री पेरिनियल टियर कहा जाता हैं। फिलहाल चिकत्सको ने यौन हमले में बुरी तरीके से जख्मी हुई बच्ची के क्षतिग्रस्त नाजुक अंगों को दुरुस्त करने के लिये उसकी अलग-अलग सर्जरी की हैं। लोस्टोमी के जरिये उसके मल विसर्जन के लिये अस्थायी तौर पर अलग रास्ता बनाया गया है। जबकि एक अन्य ऑपरेशन के दौरान उसके दूसरे नाजुक अंग की शल्य चिकित्सा के जरिये मरम्मत की गयी है। इस वक्त दस डॉक्टरों का विशेषज्ञ दल उसकी सेहत पर लगातार नजर रख रहा है।
ऐसे हुआ पूरा घटना
दरअसल, मंदसौर में वह बच्ची 26 जून की शाम स्कूल की छुट्टी के बाद घर नहीं लौटी और लापता हो गयी थी। अगले रोज यानी 27 जून को वह स्कूल के पास की झाड़ियों में लहूलुहान हालत में मिली थी। मंदसौर पुलिस ने इस मामले के एक आरोपित इरफान को गिरफ्तार लिया है। मंदसौर के कोतवाली थाने में उसका पुराना आपराधिक रिकॉर्ड है। फिलहाल, बच्ची से बलात्कार के मांमले में मंदसौर-नीमच क्षेत्र में लोगों का आक्रोश उफान पर है। वे आरोपी को फांसी दिये जाने की मांग को लेकर पिछले तीन दिन से लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।

%d bloggers like this: