कुख्यात संतोष की हत्या का हुआ खुलाशा, पिता के मौत का लिया बदला

बिहार के सीतामढ़ी कोर्ट परिसर में आज दोपहर बाद तीन बजे कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा के मर्डर की मिस्ट्री की गुथ्थी अब खुलने लगा है। पुलिस के आलाधिकारी ने इसकी पुष्टि कर दी है। दरअसल, संतोष की हत्या में संलिप्त बाइक सवार तीन बदमाशो में से एक विकास झा ने पुलिस को बताया कि उसने अपने पिता की हत्या का बदला लिया है। घटना के भाग रहे विकास को पुलिस ने गिरफ्तार लिया है। वहीं, उसके दो अन्य साथी भागने में सफल हो गया है। बतातें चलें कि कोर्ट परिसर में संतोष को गोली मारने वाला शूटर विकास झा के पिता दिलिप ठाकुर को पांच साल पहले ही संतोष ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। विकास तभी से बदला लेने की फिराक में ताक लगाए बैठा था। इस बीच जिस पिस्टल से संतोष झा की हत्या हुई है, वह पिस्टल विकास के ही पास था और पुलिस ने उस पिस्टल के साथ सात जिन्दा कारतूस भी जब्त कर लिया है।

 

नक्सल रह चुका है संतोष

दरअसल, संतोष झा ने अपराध की दुनिया में कदम रखने से पहले नक्सल संगठन में उंचे पदो पर काम कर चुका है। संतोष जिस वक्त नक्सली बना था, उस वक्त नक्सली संगठन का कमान गौरीशंकर झा के हाथो में थी। कहा तो यह भी जा रहा है कि गौरीशंकर झा ने ही संतोष को नक्सल संगठन में शामिल किया और बड़ा ओहदा भी दिया था। कालांतर में गौरीशंकर झा की संदिग्ध अवस्था में हत्या के बाद संतोष झा नक्सली का कमांडर बन गया। किंतु, वह जल्दी ही संगठन से नाता तोड़ कर पीपुल्स लिर्वेसन आर्मी का गठन करके अपराध की दुनिया में कदम रख दिया और फिर कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

नक्सलियों से भी थीं अदावत

नक्सली संगठन से अलग होने के बाद संतोष झा की नक्सलियों से अदावत भी गाहे बेगाहे चर्चा में आती रही है। दोनों एक दूसरे के दुश्मन हो गए थे। जानकार बतातें हैं कि नक्सली भी संतोष झा को ख़त्म करना चाहते थे। दूसरी ओर नक्सलियों को ठेंगा दिखा कर संतोष झा अपना खौफ बढाने में लगा था। नक्सलियों की चुनौती से निपटने को संतोष झा ने 2012 में अपराध की दुनिया के अपने गुरु और नक्सली कमांडर गौरीशंकर झा के घर पर भी हमला बोल दिया था। तब गौरीशंकर झा की पत्नी देवता झा पुरनहिया की प्रमुख हुआ करती थी।

सुराग तलाशने में जुटी है पुलिस

गिरफ्तारी के बाद सीतामढ़ी पुलिस विकास झा से राज उगलवाने में लगी हुई है। संतोष के हत्या की पूरी प्लानिंग के बारे में जानकारी इखट्ठा की जा रही है। इस बीच पुलिस को घटना में शामिल दो अन्य अपराधियों का पता चल गया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छापेमारी शुरू कर दी है। इस बात की भी तस्दीक की जा रही है कि इस हत्या कांड में मुकेश पाठक की भी कोई भूमिका है या नही? आपको बता दें कि मुकेश पाठक कभी संतोष झा का शार्प शूटर हुआ करता था। किंतु, पिछले कुछ महीनों से संतोष झा की मुकेश पाठक से भी अदाबत हो गई थीं।

खबरो की खबर के लिए केकेएन लाइव को फॉलो कर लें और शेयर जरुर करें। आपके सुझाव का मुझे इंतजार रहेगा।

%d bloggers like this: