सांप्रदायिक हिंसा की चपेट में श्रीलंका, दस दिनो की इमरजेंसी लागू

श्रीलंका। श्रीलंका के कैंडी जिले में दो विशेष समुदाय में हुई हिंसक झड़प के बाद श्रीलंका सरकार ने दस रोज के लिए इमरजेंसी लागू कर दिया है। बतातें चलें कि श्रीलंका में दो समुदायों के बीच पिछले एक साल से तनाव कायम है। दरअसल, एक समुदाय के लोग दूसरे समुदाय के लोगों का श्रीलंका में मौजूदगी का विरोध रह रहे हैं और उन्हें देश छोड़ कर चले जाने की मांग पर अरे हुए है। इसी बात को लेकर दोनो समुदाय के बीच ताजा हिंसा भड़क गयी है।

इस बीच श्रीलंका की सरकार ने सांप्रदायिक दंगों को देश के अन्य हिस्सों में फैलने से रोकने के लिए मंत्रिमंडल की विशेष बैठक में देश में दस दिन के लिए आपात स्थिति घोषित करने का फैसला लिया है। इसके अलावा फेसबुक के जरिये हिंसा भड़काने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने का ऐलान किया गया है। कैंडी में भीड़ द्वारा दुकान जलाए जाने के बाद मौके पर सुरक्षा बलों को भेज दिया गया और कर्फ्यू लगा दिया गया।
ऐसे हुई घटनाक्रम
दरअसल दो समुदायों के बीच श्रीलंका के कैंडी में इस कदर हिंसा भड़की कि पूरे देश में दंगा भड़क गया। कैंडी श्रीलंका का सबसे लोकप्रिय टूरिस्‍ट हिल स्‍टेशन है। कैंडी में एक व्यक्ति की हत्या और समुदाय विशेष के व्यापार को आग लगाने के बाद अशांति के हालात पैदा हो गए थे।
दंगा भड़कने के बाद दर्जनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। सरकार ने सभी पार्टियों और आम नागरिकों से अपील की है कि वे जिम्‍मेदारी दिखाएं और शांति बनाए रखें।
बताते चलें कि भारतीय टीम निदाहास ट्रॉफी ट्राई सीरीज खेलने के लिए इस वक्त श्रीलंका में ही मौजूद है। आज शाम को सीरीज का पहला मैच कोलंबों के प्रेमदासा स्टेडियम में खेला जाएगा। जानकारी के मुताबिक कोलंबो में स्थिति सामान्य है।

%d bloggers like this: