हजरतपुर से तीन रोज के भीतर दो शव मिलने से सनसनी

एक कटी अंगुली, दो जोड़ी चप्पलें व एक तौलिया भी पुलिस ने की बरामद

मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर जिला अन्तर्गत मीनापुर के हजरतपुर गांव में बीते 72 घंटे के अंदर दो प्रॉपर्टी डीलरों के शव मिलने से इलाके में सनसनी मच गई है। गुरुवार को अहियापुर थाना के दादर के बिजली सहनी का शव गांव के बांसवाड़ी में मिला। मौके से पुलिस ने शव के समीप से एक कटी हुई अंगुली, दो जोड़ी चप्पलें व एक तौलिया भी बरामद किया है। इससे पहले तीन जून को कांटी के कलवारी के हरिचंद्र सहनी का शव इसी बांसवाड़ी से मिला था। दोनों के शव मिलने के स्पॉट में 10 से 15 मीटर की दूरी बताई जा रही है। दोनों प्रॉपर्टी डीलर अपने तीन अन्य साथी के साथ सोमवार की शाम से घर से निकले थे।

 

जमीनी विवाद में हत्या की है आशंका

यह मामला मीनापुर पुलिस के लिए पहेली बन गया है। अबतक पुलिस दोनों की मौत की वजह का खुलासा नहीं कर सकी है। फिलहाल, पुलिस मामले की जांच जमीन विवाद से जोड़कर कर रही है। इधर, गुरुवार की सुबह हरिचंद्र सहनी की पत्नी ने शव की पहचान की और पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार के लिए ले गई। वहीं, बिजली सहनी के शव का पोस्टमार्टम नहीं हो सका है। शुक्रवार को डॉक्टर पोस्टमार्टम करेंगे।
पुलिस सूत्रों की माने तो आशंका जताई जा रही है कि दोनों की हत्या की गई है। हत्या एक ही तरीके से की गई है। शव सड़ने से जख्म भी स्पष्ट नहीं हैं। हालांकि पोस्टमार्टम के बाद ही हत्या के तरीके के बारे में सही जानकारी मिल सकेगी। बिजली सहनी के शव के पास मिली कटी अंगुली किसकी है, इस बारे में भी कुछ स्पष्ट पता नहीं चल सका है। इधर, अहियापुर थानेदार धनंजय कुमार ने बताया कि मंगलवार को दादर के बिजली सहनी के पुत्र ने अपहरण व अनहोनी की आशंका लेकर एफआईआर दर्ज कराई थी। इसमें कांटी के हरिचंद्र सहनी, दादर के उमा शंकर सहनी और दो अन्य अज्ञात पर पिता को घर से बुलाकर ले जाने की बात कही थी। इनमें से दो के शव मीनापुर के हजरतपुर से मिले है। जांच शुरू कर दी गई है। उमाशंकर व दो अन्य अज्ञात का सुराग लगाया जा रहा है। मृतक हरिशचंद्र सहनी के परिजनों से भी पूछताछ की जाएगी।

सोमवार से साथ लापता थे बिजली सहनी

एफआईआर कराते वक्त बिजली सहनी के पुत्र शशि कुमार सहनी ने आशंका जताई थी कि जमीन विवाद में आस-पड़ोस के कुछ लोगों ने हत्या की नीयत से उन्हें अगवा कर लिया है। वह सोमवार की शाम कांटी के हरिचंद्र सहनी, उमाशंकर सहनी व दो अन्य के साथ घर से निकले थे। रात तक नहीं लौटे और मोबाइल भी बंद था। इसके बाद पुलिस को जानकारी दी थी।

पड़ोसी से हुआ था विवाद
शशि कुमार सहनी ने बताया कि पिता बिजली सहनी शहर के नगर थाना क्षेत्र के एक प्रॉपर्टी डीलर के साथ मिलकर जमीन खरीद-फरोख्त करने का काम करते थे। कुछ दिनों से पड़ोस के ही एक-दो लोगों से विवाद चल रहा था। दोनों रिश्ते में जीजा-साला हैं। उक्त दोनों लोगों ने देख लेने की धमकी दी थी।

पुलिस ने मामले को लिया गंभीरता से
फिलहाल पुलिस ने पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू कर दिया है। डीएसपी पूर्वी गौरव पांडेय ने बताया कि यह प्रॉपर्टी डिलिंग से जुड़ा मामला है। पुलिस इसकी जांच कर रही है। हत्या की वजह पता लगाने का निर्देश अहियापुर व मीनापुर पुलिस को दे दिया गया है।

%d bloggers like this: