इसाई धर्म प्रचारक करता था महिलाओं का यौन शोषण

प्रेयर के नाम पर फांसता था महिलाओं को

बिहार। पटनासिटी के गुलजारबाग क्षेत्र में ईसाई धर्म प्रचारक यानी पास्टर के द्वारा धर्मिक बात बताने की आर में महिलाओं के साथ बलात्कार करने का शर्मनाक खेल उजागर हुआ है। बहरहाल, महिला थाने की पुलिस ने पास्टर चंद्रमा राज को गिरफ्तार कर लिया। वह मूल रूप से रोहतास का रहने वाला है। फिलहाल दो महिलाओं ने पास्टर पर रेप का इल्जाम लगाया है जिनमें से एक ने एफआईआर दर्ज करवाई है।
पीड़ित महिलाओं ने खुलासा किया है कि पास्टर अब तक तकरीबन 24 महिलाओं के साथ गलत कर चुका है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। इधर, रविवार शाम पास्टर की गिरफ्तारी के बाद महिला थाने में जमकर हंगामा हुआ। कुछ महिलाएं पास्टर के पक्ष में थाने पहुंचीं थीं। उनका कहना था कि पास्टर को गलत तरीके से फंसाया गया है।
प्रेयर के नाम पर महिलाओं का करता था यौन शोषण
पास्टर प्रेयर के नाम पर महिलाओं को बुलाता था। शुरुआती दौर में महिलाओं से मीठी-मीठी बात कर उन्हें अपने जाल में फांसता था। इसके बाद महिलाओं का दुख-दर्द जानकर उन्हें उसका निवारण करने का दावा करता था। पीड़ित महिलाओं की मानें तो पास्टर महिलाओं को अकेले में बुलाता था।
केस करने से डर रही थीं महिलाएं
पीड़ित महिलाएं पास्टर के खिलाफ केस करने से डर रही थीं। तब उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता अर्चना राय भट्ठ से मुलाकात की। अर्चना ने महिलाओं से बात की फिर पीड़ितों को आगे आने को कहा। वे महिलाओं को थाने तक ले गईं। पहली बार 23 सितंबर को यह मामला सामने आया था। आठ अक्तूबर को एक महिला के बयान पर एफआईआर दर्ज की गई। इसके बाद से ही पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई थी।
मिठाई खिलाकर करता था महिला को बेहोश
महिलाओं का आरोप है कि पास्टर उन्हें धार्मिक बातें सुनाने के बाद मिठाई खिलाता था। इसके बाद वे बेहोश हो जाती थीं। जिन महिलाओं के साथ पारिवारिक परेशानी होती थी पास्टर उनसे पर्सनल प्रेयर करने की बात कहता था। इसके बाद पटनासिटी के गुलजारबाग स्थित अपने कमरे पर बुलाता था। यहां रेप करने के बाद वह महिलाओं को उल्टी-सीधी बात समझाकर चुप कर देता था। इस पूरे प्रकरण में एक अन्य महिला का नाम सामने आ रहा है जो पास्टर की करीबी है। वह महिलाओं को फंसाकर पास्टर के पास लाया करती थी।