दुसरा कामरूप कामख्या है भटौलिया का मनोकामनापूर्ण देवी

संतोष कुमार गुप्ता

वासंतिक नवरात्रा मे देवी श्लोक से मुजफ्फरपुर जिला अन्तर्गत मीनापुर का भटौलिया का कोना कोना गूंज उठा है। इस बार भटौलिया गांव मे देवलोक व दानवलोक का युद्ध आकर्षण का केंद्र होगा।बीच समुंद्र मे मां दुर्गा व महिषासुर राक्षस की लड़ाई लोगो के लिए कौतूहल का केंद्र बनेगा।कोलकत्ता आसनसोल के  के मूर्ति कारीगर राखोहरी सुत्रधर प्रतिमा को अंतिम रूप देने मे दिन रात एक किये हुए है।मंदिर परिसर मे अष्टयाम की धुन से इलाका का कोना कोना गूंज उठा है।यहां अष्टयाम कराने वालो की भी लम्बी कतारे है।आचार्य अरूण मिश्र के वैदिक मंत्रोच्चारण से क्षेत्र का

Manokamna Purn Bhagbati ke Pindi ki Puja Karti Mahilay

कोना कोना गूंज उठा है

मुरादे पुरी करती है भटौलिया की मां

गांव मे नवरात्रा देखने विदेश से भी लोग यहा पहुंच रहे है। भटौलिया गांव के रोम रोम मे देवी श्लोक गूंज रहे है.लोगो का कहना है की मनोकमनापूर्ण देवी मां  दुर्गा का यह प्रताप है।

दुसरा कामरुप कामख्या है भटौलिया का मां दुर्गा

उम्र के अंतिम पड़ाव मे चल रहे मुख्य यजमान रामसरेख राणा बताते है की भटौलिया मे 17 वर्षो से धुमधाम से पूजा होती है।उनके पूर्वज राजस्थान के मेवाड़ जिले के गढ़ गंगवार गांव से आकर बसे है।यहां सभी भाव राणा के वशंज है। गांव के लोगो की कुल देवता ट्रीपल सुंदरी है। भाव राणा ने ही भटौलिया गांव मे कामरुप कामख्या से ज्योतिर्लिँग लाकर स्थापना की थी। आज भी नवरात्रा समाप्ति के बाद भी सवा महिने तक देवी का पाठ किया जाता है। देश मे कामरुप कामख्या के बाद भटौलिया मे ही सवा महिने तक पाठ होता है। पूजा समिति के अध्यक्ष धनरंजन राणा व पूर्व अध्यक्ष प्रभुनाथ राणा बताते है की भटौलिया की जमीन कभी परसौनी स्टेट की संपति थी। किँतु कालांतर मे स्टेट ने ताम्रपत्र पर सात सौ एकड़ जमीन दान मे दे दिया गया।

दानवीरो की है लंबी कतारे

धर्मपुर गांव के देवेंद्र साह ने पिछले साल सरकारी नौकरी के लिए मन्नते मांगी थी। उनका नौकरी रेलवे मे लग गया तो उन्होने मंदिर मे तेरह हजार रूपया का आर्थिक सहायता की है।आर्मी मे नौकरी लगने पर दशरथ राणा व परमेश्वर ठाकुर की ओर से अष्टयाम कराया जा रहा है।इतना ही नही यहां कई ऐसे लोगो ने भी मंदिर मे सहयोग किया है जिनका सूना गोद भर गया है।जिनकी आंख की रौशनी लौट गयी है.कई अस्पतालो से लौटने के बाद उनका पुत्र स्वस्थ्य हो गया है। ऐसे लोगो की संख्या सैकड़ो मे है। पुरा गांव सात्विक आहार लेकर भक्ति भावना की मिसाल पेश की है।

एक रूपये की सहयोग राशि पर पांच लोग जायेंगे वैष्णो देवी

भटौलिया गांव मे इस बार एक रूपये की सहयोग राशि जमा करने वाले भाग्यशाली साबित हो सकते है। श्रद्धालु एक रूपये की सहयोग राशि जमाकर अपना नाम दर्ज करा सकते है.अंतिम दिन पांच भाग्यशाली विजेताओ का नाम लॉटरी से निकाला जायेगा। सभी पांच लोगो को पूजा समिति अपने खर्च से वैष्णो देवी दर्शन के लिए परिभ्रमण पर भेजेगी। साथ ही मेले मे भोजपुरी स्टार गुड्डु रंगिला सहित कई कालाकारो को पहुचने की सम्भावना है।

भटौलिया गांव एक नजर में

थाना क्षेत्र के सुदुर देहाती इलाके मे एक छोटा सा गांव है भटौलिया

– गांव के करीब तीन सौ जवान सेना मे है
– सौ से अधिक लोग कर्नल से लेकर सिपाही पद पर है
– सउदी अरब मे चार्टेड एकांउटेँट है जयदीप राणा इनकी
– सोनिया राणा बहरीन मे उच्चाधिकारी है।
– सुबोध कुमार राणा दक्षिण अफ्रिका के कांगो मे संयुक्त राष्ट्र संघ का शांतिदूत है
– गांव के कई लोग रेजिमेँट का कमांडेट है