राम का नाम बदनाम न करो 

पश्चिम बंगाल में भाजपा के बढ़ते ताकत से शायद  तृणमूल कांग्रेस घबड़ा गई है। क्योकि पोस्टर वार का अब तृणमूल साह ले     रही है। जिसमे 46 साल पूर्व मसहूर फ़िल्म के एक गीत की राम का नाम बदनाम न करो को लिखा गया है। पोस्टर में नीचे ममता बनर्जी की तस्वीर भी लगाई गई है। बताते चले की इसी वर्ष रामनवी के दिन भाजपा ने बंगाल में विशाल जुलुस व् शोभा यात्रा निकालकर तृणमूल के गढ़ में अपनी जगह बनाई है। हलाकि उसके तुरन्त बाद ही तृणमूल ने हनुमान जुलुस निकालकर अपनी साख कायम करने की भरसक प्रयास किया किन्तु अमित शाह के नेतृत्व में निकली राम जुलुस ज्यादा असरदार दिखी। इधर तृणमूल ने पोस्टर के माध्यम से भाजपा को यह नसीहत देना चाहती है राम का नाम बदनाम न करो । इस पर भाजपा ने भी तंज कसते हुये कहा है कि राम ने तो सब कुछ सुख त्याग दिए किन्तु तूने तो दुःख के डर कर भागे। इस किशोर के पुराने गीत पोस्टर वार  और महावीर   हनुमान के तस्वीर लगाने की सत्तारूढ़ तृणमूल की क्या जरूरत पड़ी। हालांकि तृणमूल उसकी ही संस्कृति में जबाब देना चाहती है। इधर भाजपा मानने लगी है है सत्तारूढ़ भाजपा के बढ़ते ताकत से डर गई है। जो हो अब तो बंगाल की जनता ही तय करेगी की किसका बेडा पार राम करेगे और किसका हनुमान।