एक महिला मंत्री जो बच्चा जनने के लिए साइकल चलाकर अस्पताल पहुंची

वह मंत्री है और गर्भवति भी। प्रसव पीड़ा शुरू होते ही खुद साइकिल चला कर अस्पताल पहुंच गई। दरअसल, यह प्रेरणादायक और रोचक वाकाया न्यूजीलैंड की है। आपको जान कर हैरानी होगी कि न्यूजीलैंड की मंत्री जूली ऐने जेंटर अपने पहले बच्चे को जन्म देने के लिए बिना किसी तामझाम के साइकिल चलाते हुए अस्पताल पहुंच गई। यहां बताना जरुरी है कि ग्रीन पार्टी से सांसद और मंत्री जेंटर साइकलिस्ट भी हैं। प्रसव के लिए वह अपने घर से करीब एक किलोमीटर दूर स्थित ऑकलैंड सिटी अस्पताल तक साइकिल चलाते हुए ही पहुंच कर सभी को हैरात में डाल दिया है।

सोशल मीडिया पर साझा किया तस्वीर

उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीर साझा करते हुए लिखा है कि मैंने और मेरे जीवनसाथी ने साइकल से जाने का फैसला लिया क्योंकि कार में सहयोगियों के लिए पर्याप्त जगह नहीं थी। लिखा है कि इससे मेरा मूड भी बहुत बढ़िया हो गया। उन्हें 42 हफ्ते का गर्भ है। उनकी पार्टी के एक सहयोगी ने बताया कि अभी तक उन्होंने बच्चे को जन्म नहीं दिया है।

न्यूजीलैड के पीएम के नाम पर भी रिकार्ड

इससे पहले न्यूजीलैंड की तात्कालीन पीएम जैसिंडा अर्डर्न ने भी पीएम रहते हुए मिसालें कायम की थी। वह दुनिया की ऐसी दूसरी राष्ट्राध्यक्ष हैं, जिन्होंने पद पर रहते हुए बच्चे को जन्म दिया था। जैसिंडा ने 6 सप्ताह की पैरेंटल लीव ली थी और फिर नवजात बच्चे के साथ लौट पदभार संभाला था। अब न्यू जीलैंड की मंत्री ने मिसाल कायम करते हुए साइकल चलाकर अस्पताल पहुंच कर बच्चे को जन्म देने की कोशिश कर रही है।

भारत के राजनेताओं के लिए सबक

न्यूजीलैंड के इस महिला मंत्री की साहस भारत जैसे दुनिया के सबसे बड़े प्रजातांत्रिक देश के लिए सबक बन गया है। खबर के भारत में पहुंचते ही लोग चर्चा करने लगें हैं कि भारत में मामुली रूप से बीमार पड1ने पर भी मंत्री अपने रुतबा का बखूबी इस्तेमाल करता है और डॉक्टर को मंत्री के घर पर आकर इलाज करने के लिए मजबूर कर दिया जाता है। हालात यदि अस्पताल जाने की हो जाए तो सरकारी एम्बुलेंस और पूरी तामझाम दिखाने में भी यहां कोई कसर बाकी नहीं छोड़ा जाता। एक अजीब सा उसहरण है भारत के लिये यहाँ तो डॉक्टर . में हरदम हाज़िर हैं।

 

खबरो की खबर के लिए पेज को फॉलो कर लें और शेयर व लाइक जरुर करें। मुझे आपके सुझाव का इंतजार रहेगा।

%d bloggers like this: