इलाहाबाद बैंक की लापरवाही से बड़ी वित्तीय गड़बड़ी होते होते बचा

15 हजार के बदले पास कर दिया 50 खरब का निकासी ऑर्डर/ मीनापुर अस्पताल ने अपने खाते से 15,272 रुपये रीलिज किए थे/ शाखा प्रबंधक ने स्वीकारा, डाटा इंट्री में हुई गड़बड़ी, किया भूल सुधार

मीनापुर। इलाहाबाद बैंक की मीनापुर शाखा में आज एक बड़ी वित्तीय गड़बड़ी होते-होते बची। हुआ यूं कि शुक्रवार को मीनापुर अस्पताल ने अपने खाते से 15,272 रुपये रीलिज किए। इस राशि से डीडीटी छिड़काव कर्मी को भुगतान होना था। इस बीच बैंक कर्मियों की लापरवाही से अस्पताल के खाते से 50 खरब रुपये की निकासी करने का ऑर्डर पास हो गया।

बताते चले कि अस्पताल के अकाउंट में इतनी बड़ी राशि उपलब्ध ही नहीं थी। जब इसकी जांच की गई तो गड़बड़ी का खुलासा हुआ। इस बाबत पूछे जाने पर शाखा प्रबंधक गोपाल कुमार ने स्वीकार किया है कि डाटा इंट्री में गड़बड़ी हो गई थी। हालांकि, मामला संज्ञान में आते ही इसमें सुधार कर लिया गया है।
दूसरी ओर अस्पताल के प्रभारी डॉ. एके पांडेय ने बैंक और सिविल सर्जन से इसकी शिकायत की है। उन्होंने इसके लिए दोषी कर्मचारी पर कार्रवाई की भी मांग की है। उन्होंने बताया कि यदि यही निकासी लाख रुपये तक की होती तो पता भी नहीं चलता और बेवजह एक बड़ी गड़बड़ी के हम सभी शिकार हो जाते। फिलहाल, बैंक की यह लापरवाही इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है।
इधर, मामले में जिला वैक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल अधिकारी डॉ. सतीश कुमार ने बताया उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है। वहीं, सिविल सर्जन डॉ. ललिता सिंह ने बताया कि कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। बैंक के सॉफ्टवेयर में खराबी से ऐसा हुआ है।

%d bloggers like this: