नही रहें शिवहर के जनक

मुखिया से मंत्री तक का सफर

शिवहर। बिहार के कद्दावर नेता और शिवहर के जनक पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुनाथ झा का निधन हो गया। दिल्ली में राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान देर रात उनका निधन हो गया।

शिवहर के अम्बाकला निवासी रघुनाथ झा 78 साल के थे। वे बिहार के राजनीति के एक प्रमुख हस्ती थे। उनका 37 वर्षों का संसदीय जीवन यहां है। वे लगातार छह वार शिवहर से विधायक और दो बार क्रमशः गोपालगंज ओर बेतिया से सांसद रहे। बिहार सरकार ने डेढ़ दर्जन से अधिक विभागों के मंत्री रहे। इसके अलावा वे केन्द्र में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सरकार में भारी उद्योग राज्य मंत्री भी रहे।
राजनीतिक सफर
रघुनाथ झा ने वर्ष 1969 में शिवहर जिले के पिपराही प्रखंड के अम्बा कला पंचायत से मुखिया का चुनाव जीत कर सार्वजनिक जीवन में पहला कदम रखा और फिर कभी पीछे मुड़ कर नही देखा। इसके बाद 1976 में सीतामढ़ी जिला परिषद के अध्यक्ष निर्वाचित हुए। इससे पहले 1972 से 1998 तक शिवहर विधानसभा क्षेत्र से लगातार छह वार विधायक निर्वाचित हुए। वर्ष 1999 से 2004 तक समता पार्टी के टिकट पर गोपालगंज से सांसद रहें और 2004 से 2009 तक बेतिया से राजद के टिकट पर सांसद रहे। वर्ष 1980 में पहली बार डॉक्टर जगन्नाथ मिश्र के मुख्यमंत्रित्व काल में बिहार सरकार में मंत्री बने। वर्ष 1985 में जनता पार्टी के टिकट पर विधायक चुने गए और जनता विधानमंडल दल के नेता निर्वाचित हुए। वर्ष 1989 जनता दल के गठन बाद पार्टी के पहले प्रदेशाध्यक्ष बने। वर्ष 1990 में हुए मुख्यमंत्री के चुनाव में जनता दल की टीकट से चुनाव भी लड़ा। वर्ष 1990 में लालू प्रसाद के नेतृत्व में बनी सरकार में दूसरे नंबर पर मंत्री बने और संसदीय कार्य, स्वास्थ्य, सांस्थिक वित्त तथा लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण सहित आधा दर्जन विभागों के मंत्री बनाए गए। पुनः 1993 में राज्य सरकार में संसदीय कार्य एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री बने 1993 से 1998 तक राज्य सरकार में मंत्री रहे। 1998 में लालू प्रसाद से मतभेद होने के बाद राजद से अलग होकर समता पार्टी में शामिल हुए और नैतिकता के आधार पर बिहार विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दी। 1999 में गोपालगंज से सांसद बने और 2004 में बेतिया से सांसद बने 2008 में केंद्र की मनमोहन सिंह सरकार में भारी उद्योग राज्य मंत्री बनाए गए।

%d bloggers like this: