किसान को हाईटेक करने का काम शुरू

बिहार में होगी ई-रकम केंद्र

बिहार। बिहार के किसानो को हाईटेक करने के लिए सरकार ने कमर कस ली है। सूबे की सरकार अब किसानो के लिए सरकार ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत करने जा रही है। सरकार ई-रकम यानी राष्ट्रीय किसान एग्री मंडी बनाने की तैयारी में है। प्रथम चरण में राज्य के 13 जिलों के किसानो को इसका लाभ मिलने लगेगा। इस मंडी के जरिए किसान अपने उत्पाद को ऑनलाइन बेच सकेंगे।

इसके लिए केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्रालय और जीविका के साथ एमओयू साइन हो गया है। जीविका के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी बालामुरुगन डी. ने बताया कि जीविका के साथ 4 जनवरी को एमओयू साइन हो गया है। पहले चरण में इसी माह के अंत तक जमुई में मक्के की खरीदारी से इसकी शुरुआत होनी है।
जानकारी के मुताबिक ई-रकम सेंटर पर किसान अपने उत्पाद का नमूना रखेंगे। ई-रकम सेंटर के कर्मचारी कृषि उत्पाद की गुणवत्ता जांच करेंगे। गुणवत्ता जांच करने के बाद ई-रकम पोर्टल पर फोटो के साथ अपलोड कर दिया जाएगा। ई-रकम के जरिए किसान अपने उत्पाद सीधे बेच सकेंगे। ऐसे में बिचौलिये व कालाबाजारी पर अंकुश लगेगा।
बतातें चलें कि ई-रकम यानी ई राष्ट्रीय किसान एग्री मंडी एक डिजिटल पहल है जो किसान, एफपीओ, पीएसयू नागरिक आपूर्ति और खरीदार यानी आम लोगों, व्यापारियों और फूड प्रोसेसर आदि को एक साथ एक मंच पर लाकर कृषि उत्पादों की बिक्री और खरीदारी प्रक्रिया को आसान बनाती है। इस पहल के अंतर्गत देश भर में ई-रकम केंद्र चरणबद्ध तरीके से विकसित किए जा रहे हैं। ये केंद्र किसानों, एफपीओ को अपने उत्पाद ऑनलाइन बेचने की सुविधा प्रदान करेंगे।

%d bloggers like this: