नेता जी आपने जनता काेे लुटा है बार बार…

Alfaaz