मुंबई की मायानगरी पर बारिश का कहर

भारत की आर्थिक राजधानी कहलाने वाली मायानगरी मुंबई की रफ्तार इन दिनो तकरीबन थम सी गई। मुंबई में बारिश ने ऐसा कहर बरपाया कि सड़क और नाले का फर्क ही मिट गया। चहुओर नजारा बाढ़ के जैसा है। उपनगरीय रेलवे ट्रैक बारिश में डूबा हुआ हैं। सड़क पर तीन से चार फीट पानी जमा हो जाने से सड़क आवागमन पूरी तरीके से ठप हो चुका है। भारी बारिश के चलते शहर में बाढ़ जैसे हालात हैं। यहां तक की मुंबई के डिब्बावालों ने अपनी सेवाओं को देने से इनकार कर दिया है।

वेस्टर्न रेलवे पर सर्वाधिक असर
वेस्टर्न रेलवे के मुताबिक भारी बारिश के कारण नालासोपारा में अप और डाउन लाइन पर सेवाएं रोक दी गई हैं। हालांकि, वेस्टर्न सबअर्बन पर लोकल ट्रेनें विरार से चर्चगेट के बीच 10 से 15 मिनट तक की देरी से चल रही हैं। वहीं, ग्रेटर मुंबई, ठाणे, रायगढ़ और पालघर जिलों में वर्षा का पानी भर जाने से सड़क आवागमन पर इसका प्रतिकूल असर पड़ा है। इसी प्रकार भारी बारिश से कुर्ला, सायन, माटुंगा, अंधेरी और धारावी, ठाणे, कल्याण, वसई, मीरा रोड, नालासोपारा और भिवंडी आदि इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति बन गई। विद्यालय से लेकर दुकान तक में तीन से चार फीट पानी भरा हुआ है। सरकार ने स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए हैं।
और बारिश होने का है अनुमान
इस बीच मौसम विभाग ने मुंबई में मंगलवार को भारी बारिश होने का अनुमान जताया है। कोलाबा वेधशाला में बीते 24 घंटे में 170.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। यह इस मौसम में 24 घंटे में दर्ज की गई सर्वाधिक बारिश है। विभाग ने दार्जिलिंग के पर्वतीय क्षेत्र और उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में भी भारी बारिश की चेतावनी दी है।

%d bloggers like this: