लेखक और निर्देशक नीरज वोरा का निधन

फिर हेरा फेरी में जबरदस्त निर्देशन के लिए उन्हें याद किया जायेगा

मुंबई। पटकथा लेखक, निर्देशक और अभिनेता नीरज वोरा का आज सुबह निधन हो गया। वह कई महीनों से कोमा में थे। नीरज के छोटे भाई उत्तांक वोरा ने बताया कि अंधेरी अस्पताल में तड़के 4 बजे नीरज का निधन हो गया। वह 54 वर्ष के थे। उत्तांक ने बताया कि उन्हें पहले फिरोज नाडियाडवाला के घर बरकत ले जाया जाएगा। उसके बाद आज अपराह्न् 3 बजे सांता क्रूज में विद्युत शवदाहगृह में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। कहतें हैं कि रंगीला के लेखक और फिर हेरा फेरी के निर्देशन के लिए पहचाने जाने वाले प्रतिभाशाली फिल्मकार ने बोल बच्चन समेत कई अन्य परियोजनाओं में अपने जबरदस्त अभिनय का परिचय देकर उन्होंने लोगो के दिलो में अपनी अमिट जगह बना ली है।
गुजराती परिवार में जन्मे नीरज को फिल्म उद्योग में अपने अभिनय, लेखन और निर्देशन से हास्य को अलग अंदाज में पेश करने के लिए जाना जाता है। वह रंगमंच से भी करीबी से जुड़े थे और उन्होंने कई टेलीविजन शोज में भी अभिनय किया। वह रंगीला, अकेले हम अकेले तुम, जोश, बादशाह, चोरी चोरी चुपके चुपके, आवारा पागल दीवाना, दीवाने हुए पागल, अजनबी, हेरा फेरी और फिर हेरा फेरी जैसी फिल्मों के लेखक के रूप में जाने जाते हैं।
उन्होंने खिलाड़ी 420 और फिर हेरा फेरी जैसी फिल्मों का निर्देशन भी किया था। फिल्म जगत से वोरा को सबसे पहले श्रद्धांजलि देने वालों में परेश रावल और राहुल ढोलकिया जैसे नाम शामिल हैं।