कॉग्रेस के तीनो मुख्यमंत्री ने ली पद की शपथ, सियासतदानो का लगा जमावड़ा

कॉग्रेसी मुख्यमंत्री

KKN न्यूज ब्यूरो। राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कॉग्रेसी मुख्यमंत्री ने अपने पद और गोपनियता की शपथ ले ली। इस मौके पर सियासतदानो का जमावड़ा भी लगा, जो 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में राजनीति के बदले आयामो का संकेत दे रहा था।


राजस्थान में अशोक गहलोत ने ली शपथ


राजस्थान में अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस मौके पर विपक्षी दलों के कई नेता मौजूद रहे। हालांकि, बसपा सुप्रीमो मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव शामिल नहीं हुए। जबकि, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी इस समारोह में शामिल नहीं हुईं। दूसरी ओर कॉग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कॉग्रेस के अधिकांश बड़े नेता इस शपथग्रहण समारोह में शामिल हुए।


मध्यप्रदेश में कमलनाथ ने ली शपथ


मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे आदि शामिल होंगे। इसी प्रकार पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, जदयू शरद गुट के शरद यादव, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूख अब्दुल्ला, टीडीपी के चंद्रबाबू नायडू, सीपीआई, सीपीएम, डीएमके के स्टालिन, आम आदमी पार्टी, सहित विपक्ष के कई शीर्ष नेता मौजूद थे। समारोह में कई उद्योगपति व साधु-संत सहित पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हुए।


छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल ने ली शपथ


इसी प्रकार छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेला ने मुख्यमंत्री पद व गोपनियता की शपथ ली। कॉग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित इस मौके पर बड़ी संख्या में सियासतदान जमा हुए। समझा जाता है कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले इस समारोह की आर लेकर कॉग्रेसी खेमा में जबरदस्त उत्साह का संचार करने की कारगर रनणीति के तहत आम लोगो को भी संदेश देने की पुरजोर कोशिश की गई है।