पूर्व मुखिया ने सूबे के मुखिया से लगाई गुहार

मुजफ्फरपुर में ही रहने दिया जाये मीनापुर को

मीनापुर को शिवहर में शामिल करने के प्रस्ताव को रद्द करने की मांग को लेकर पूर्व मुखिया मों सदरुल खान ने आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है। सीएम को सदरुल ने बताया कि भौगोलिक दृष्टिकोण से मीनापुर प्रखंड मुजफ्फरपुर जिले का महत्वपूर्ण अंग है। सदरुल ने सीएम को बताया कि मीनापुर प्रखंड मुख्यालय से मुजफ्फरपुर मुख्यालय की दूरी मात्र 15 किलो मीटर है। वही, शिवहर मुख्यालय की दूरी करीब 50 किलोमीटर है। लिहजा लोगो को जबरदस्त परेशानियों का सामना करना परेगा। सूबे के मुखिया ने पूर्व मुखिया की बातों को गंभीरता से सुना है और न्यायोचित कारवाई का आश्वासन भी दिया है।

बतातें चलें कि क्षेत्र विकास हेतु शिवहर के डीएम के द्वारा मीनापुर सहित पूर्वी चंपारण व सीतामढ़ी के कई प्रखंड को शिवहर जिला में शामिल करने का एक प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा है। इसी के बाद से मीनापुर में बवाल मचा हुआ है। शिवहर के डीएम द्वारा भेजी गई प्रस्ताव को निरस्त करने के लिए मीनापुर के सभी राजनीतिक दल गोलबंद होने लगें हैं। प्रस्ताव के विरोध में संयुक्त मोर्चा का गठन हो चुका है। मीनापुर विधायक के नेतृत्व में शीघ्र ही एक सर्व दलीय प्रतिनिधि मंडल राज्य के मुखिया से मिलने वाला है। इस बीच कल ही मीनापुर पंचायत समिति की आपतकालीन बैठक में सरकार से शिवहर डीएम के प्रस्ताव को रद्द करने की मांग की जा चुकी है। बावजूद इसके शिवहर डीएम का प्रस्ताव रद्द नही हुआ तो संयुक्त मोर्चा ने 15 मई से इसके बिरुद्ध् में चरणबद्ध आंदोलन करने की घोषणा कर रखी है।