बिहार में बीजेपी जदयू के बीच सीट बंटवारे का फॉर्मूला तय

नीतीश कुमार, अमित शाह

बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बीच दिल्ली में हुई बैठक के बाद 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे को लेकर फैसला लगभग हो गया है। इसी के साथ दोनो दल के बीच सीटों को लेकर चल रही खींचतान शुक्रवार को खत्म होने के संकेत मिलने लगे है।

सीटो की घोषणा होना अभी बाकी

दोनो राष्ट्रीय अध्यक्षो के बीच हुई बैठक के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि बिहार में जेडीयू और बीजेपी लगभग एक समान सीटो पर चुनाव लड़ेंगी और अन्य घटक साथियों को भी सम्मान जनक सीटें मिलना तय है। हालांकि, सीटो की संख्या नहीं बताई गई। बीजेपी के अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि दोनों पार्टियां कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेंगी इसकी घोषणा बाद के दिनों में की जाएगी। इस मौके पर अमित शाह ने कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव पीएम मोदी की अध्यक्षता में लड़ा जाएगा और एनडीए पहले से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करेंगे।

घटक दल को भी मिलेगा सम्मान

रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाह के बारे में पूछे गए सवाल पर अमित शाह ने कहा कि वह हमारे साथ है और एनडीए के सभी साथियों को सम्मान जनक सीटें दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि राम विलास पासवान और उपेंद्र कुशवाह हमारे साथ हैं और नए साथी के आने पर सभी की सीटों को घटाया गया है। वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में सीट बंटवारे के फॉर्मूला पर सहमती हो गई है। नीतीश कुमार के साथ उनकी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर और जदयू के वरिष्ठ नेता राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह भी मौजूद थे।

यह है मौजूदा हालात

आपको बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनावों में बिहार के 40 लोकसभा सीटों में से बीजेपी ने 22 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं लोजपा ने छह, आरएलएसपी ने तीन और जेडीयू को दो सीटों पर जीत हासिल हुई थी। उधर, एनसीपी ने एक, कांग्रेस ने दो और आरजेडी ने चार सीटों पर जीत हासिल की थी।

%d bloggers like this: