पाक सेना प्रमुख को गले लगा कर फंसे कॉग्रेस नेता

भारत के पंजाब प्रांत के कांग्रेसी नेता, पूर्व क्रिकेटर और पंजाब कैबिनेट के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर भारत की राजनीति में बबाल खड़ा हो गया है। दरअसन, पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस नेता और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू शामिल होने के लिए पाकिस्तान गए हुये है। इसी समारोह में सिद्धू और पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा ने एक दूसरे को गले लगाया। यह वाकया शपथग्रहण समारोह शुरू होने से ठीक पहले राष्ट्रपति भवन में हुआ, जब एक दूसरे को गले मिलाते नजर आए। इसके बाद सिद्दू की भारत में काफी आलोचना हो रही है। भारतीय जनता पार्टी ने सिद्धू के पाकिस्तान जाने को लेकर कांग्रेस से जवाब मांगा है।

भाजपा ने पूछे सवाल

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल किया की नवजोत सिंह सिद्धू किसकी इजाजत से इमरान के शपथग्रहण में शामिल होने के लिए पाकिस्तान गए? क्या राहुल गांधी ने उन्हें इसकी इजाजत दी थी। संबित ने कहा कि शपथ ग्रहण समारोह से पहले सिद्धू का जनरल बाजवा से गले मिलना कोई साधारण बात नहीं है, यह एक जघन्य अपराधा है। इतना ही नहीं पीओके के राष्ट्रपति को सिद्दू के बगल में क्यों बैठाया गया? यदि, बिठाया भी गया तो सिद्धू ने उनके बगल में बैठने से मना क्यों नहीं किया?

मसूद खान के बगल में बैठने पर आपत्ति

स्मरण रहें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कांग्रेस नेता और पंजाब कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को पाकिस्तान के नियंत्रण वाले कश्मीर यानी पीओके के प्रसिडेंट मसूद खान के बगल में बिठाया गया था। शपथग्रहण समारोह के दौरान नवजोत सिद्धू को अन्य विदेशी पदाधिकारियों के साथ बैठाने की जगह उन्हें पाकिस्तान सरकार ने राष्ट्रपति भवन के एइवान-ए-सद्र के हॉल में मसूद खान के ठीक बगल में बिठाया जिसको लेकर अब विवाद पैदा हो गया है।

खबरो की खबर को पढ़ने के लिए KKN Live के पेज को फॉलो कर लें और शेयर व लाइक जरुर करें। आपके सुझाव का भी इंतजार रहेगा।

%d bloggers like this: