लोकसभा की चार और विधानसभा की दस सीटो पर उपचुनाव

उपचुनाव। लोकसभा की चार और विधानसभा की दस सीटो पर औसत मतदान के साथ सोमवार को उपचुनाव शांति पूर्वक संपन्न हो गया।

कुछ जगहों पर इलैक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों में खराबी की शिकायतों के बीच राजनीतिक तौर पर बेहद महत्वपूर्ण कैराना समेत चार लोकसभा और दस विधानसभा सीटों पर उप-चुनाव के लिए सोमवार को मतदान हुआ। उत्तर प्रदेश के कैराना में संयुक्त विपक्षी दलों का सीधा मुकाबला बीजेपी से था। इसके अलावा, महाराष्ट्र के भंडारा-गोंदिया और पालघर संसदीय सीट और नागालैंड के एक सीट पर वोटिंग हुई। सभी लोकसभा और विधानसभा सीटों के चुनाव के नतीजे 31 मई को घोषित किए जाएंगे।
कुछ जगहों पर इलैक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों में खराबी की शिकायतें आई और सियासी बयानबाजी शुरू हो गया। कैराना और नूरपुर में ईवीएम में आ रही दिक्कतों को देखते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने उसे तत्काल हटाकर मतदान सुचारू रूप से करा लिया गया है और जिन बूथों पर मतदान पूरी तरह से बाधित हो गई है वहां पर पुनर्मतदान कराया जायेगा।
गोमिया विधानसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित 19 मतदान केंद्रों पर मतदानकर्मियों को हेलीकॉप्टर से उतारा गया है। मतदान केंद्रों को अति संवेदनशील, संवेदनशील और सामान्य में बांटकर उसके मुताबिक सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है। इसी प्रकार पालघर से सात प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। पालघर में भाजपा और शिवसेना आमने-सामने है। नगालैंड में प्रमुख घटक बीजेपी और एनडीपीपी की सहयोगी पीडीए ने इस सीट पर पूर्व मंत्री तोखेहो येपथेमी को उतारा है। कांग्रेस एनपीएफ उम्मीदवार सी अपोक जमीर को समर्थन कर रही है।

%d bloggers like this: