नफरत से देश को खतरा : प्रणब मुखर्जी

नागपुर। नागपुर के आरएसएस मुख्यालय में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि नफरत की राजनीति से देश को बड़ा खतरा हो सकता है।

देश की संस्कृति और उसकी पहचान की विशेषता का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि मैं यहां पर राष्ट्र, राष्ट्रवाद और देशभक्ति पर बोलने आया हूं। उन्होंने कहा कि देश के लिए समर्पण ही देशभक्ति है। मुखर्जी ने कहा कि भारत एक खुले विचार वाला देश रहा है। भारत के दरवाजे बहु़त पहले से सभी के लिए खुले हुए हैं।
इससे पहले, वे गुरूवार को आरएसएस संस्थापक हेडगेवार के जन्मस्थली गए और उनकी तस्वीर पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस मौके पर मुखर्जी ने वीजिटर्स बुक में हेडगेवार को महान सपूत बताते हुए लिखा- मैं यहां पर भारत के महान सपूत को नमन करने आया हूं। उनके इस दौरे और उनके वहां दिए जानेवाले भाषण पर देशभर की खास नज़र बनी हुई है।
इससे पहले कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने बुधवार को कहा कि उनके पिता बीजेपी और संघ परिवार को फर्जी स्टोरीज प्लांट करने का एक मौका दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम की तस्वीरों का इस्तेमाल फर्जी कहानियां बनाने में किया जा सकता है। शर्मिष्ठा ने ट्वीटर पर कहा- उनकी भाषण भुला दिए जाएंगे लेकिन तस्वीर बनी रहेगी।

%d bloggers like this: