सीएम नेतृत्व छोड़े तो राजद समर्थन देने पर करेगा पुर्नविचार : तेजश्वी

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एनडीए से नाता तोड़ कर नेतृत्व करने की जिद छोड़ें तो राजद फिर से जदयू को समर्थन देने पर विचार कर सकता है। ये बातें कही है नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने।

गुरुवार को राजद के 22वें स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह का उद्घाटन करने के बाद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए तेजश्वी ने कहा कि कहा कि लालू प्रसाद ने बहुत त्याग किया, अब नीतीश कुमार भी त्याग करें, राजनीति से रिटायरमेंट ले लें। हालांकि अपने संबाोधन में तेजश्वी ने यह भी दावा किया कि भाजपा चुनाव के ठीक पहले जदयू का साथ छोड़ देगी।
कहा कि लोकसभा व बिहार विधानसभा का चुनाव साथ में हो सकता है, इसलिए कार्यकर्ता सचेत हो जाएं। घर-घर संपर्क करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पूरी शक्ति लगाए हुए हैं, ताकि ऐसा माहौल बन जाए कि लोग कहने लगे कि महागठबंधन के लोग उन्हें यानी नीतीश कुमार को बुला रहे हैं। तेजश्वी ने कहा कि सावधान रहें, हमें उनकी कोई जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर चुटकी लेते हुए कहा कि वे क्या-क्या बंदी कराएंगे और कब पलटी मार जाएंगे, यह कोई नही जानता। कहा कि नई शराब नीति आ रही है। गुजरात के शराब माफिया ही नहीं चाहते है कि बिहार में फिर से शराब शुरू हो। क्योंकि यह शराब माफियाओं के लिए एक बड़ा बाजार बन चुका है।
तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार यदि एक-दो साल के लिए मुख्यमंत्री बनने का ऑफर देंगे तो वह उसे ठुकरा देंगे। कहा कि मुझे किसी व्यक्ति की कृपा से नहीं, जनता के आशीर्वाद से मुख्यमंत्री बनना है। साल 2020 में नहीं तो 2035 में मुख्यमंत्री बनेंगे। तेजश्वी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री रिटायरमेंट लें या न लें जनता उन्हें रिटायर कर देगी। अगला चुनाव आंबेडकर-गांधीवादी बनाम मनुवादी-गोलवलकर के लोगों के बीच होगा। उन्होंने भाजपा व आरएसएस से कार्यकर्ताओं को सावधान रहने को कहा। कहा कि नेतृत्व को लेकर भ्रम में न रहें। पार्टी में अनुशासन पर जोर देते हुए कहा कि बड़े भाई ने मुझे हमेशा आशीर्वाद दिया है।
इससे पहले पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने तेजस्वी को मुकुट पहनाकर सम्मानित किया और कहा कि दोनों भाई एकजुट हैं। असामाजिक तत्वों को जड़ से मिटा देंगे। विपक्ष पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया और कार्यकर्ताओं से सत्य का साथ नहीं छोड़ने की अपील की। पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि 2019 का इंतजार नहीं करना है। एनडीए सरकार को इसी वर्ष गिरा देना है। पूर्व सांसद जगदानंद सिंह ने पार्टी की संघर्ष यात्रा की जानकारी दी। शिवानंद तिवारी, डॉ. कांति सिंह, जयप्रकाश नारायण यादव, राजेंद्र राम, शिवचंद्र पासवान, राजेंद्र पासवान ने भी विचार रखे।
मौके पर पार्टी के पूर्व एवं वर्तमान सांसद, विधायक, विधान पार्षद, पार्टी पदाधिकारी व अन्य प्रमुख नेता उपस्थित थे। समारोह की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र पूर्वे ने की और संचालन प्रदेश महासचिव आलोक मेहता ने किया। समारोह में सुनील कुमार पुष्पम, रामप्रताप नीरज, विनोद कुमार कुशवाहा आदि ने राजद की सदस्यता ग्रहण की है।

%d bloggers like this: