बिहार के बच्ची का लाश अमेरिका में मिला

बिहार। बिहार के नालंदा मदर टेरेसा अनाथ सेवा आश्रम तीन साल की बच्ची सरस्वती उर्फ शेरिनी मैथ्यूज की अमेरिका में लाश मिला है। अमेरिका के टेक्सास प्रांत निवासी दंपती ने दूध नहीं पीने पर बच्ची को घर से बाहर निकाल दिया था। उसके बाद से बच्ची गायब थी। सोमवार को बच्ची के शव मिलने की सूचना अनाथ सेवा आश्रम के लोगों को मिली है।
नालंदा मदर टेरेसा अनाथ सेवा आश्रम ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि वहां की पुलिस ने एक कंकाल बरामद किया है। बरामद कंकाल गायब बच्ची के होने की संभावना जतायी गयी है। उन्होंने कहा कि बच्ची को गोद लेने वाले दंपती के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। दोषी दंपती को भारत में लाकर सजा दी जाए। बच्ची को गोद लेते समय दंपती ने बड़े-बड़े वायदे किये थे। अच्छे ढंग से रखने की बात कही थी।
बताया गया कि नालंदा के तत्कालीन एसपी कुमार आशीष, उनकी पत्नी देवयानी व बाल संरक्षण इकाई की निदेशक नेहा नुपूर की मौजूदगी में बच्ची को अमेरिकन दंपत्ती को सौंपा गया था। अध्यक्ष ने बताया कि गोद लेने के बाद दंपती ने सरस्वती का नाम शेरिन मैथ्यूज रखा था। दत्तक पिता वेसिली मैथ्यूज मूलत: भारत के एर्नाकुलम के निवासी हैं।