मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव करना महंगा पड़ा

फुटेज के आधार पर डेढ़ दर्जन लोग गिरफ्तार

बक्सर। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिला पर पथराव करने वालो के खिलाफ पुलिस ने एक्शन शुरू कर दिया है। वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस ने इस मामले में 15 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। बतातें चलें कि विकास समीक्षा यात्रा के दौरान शुक्रवार को काफिले पर हुए पथराव मामले में शनिवार को पटना प्रमंडल के कमिश्नर आनंद किशोर और जोनल आईजी नैयर हसनैन खां ने नंदन गांव पहुंच कर जांच की। बाद में आनंद किशोर ने मीडिया को बताया कि पथराव की साजिश में शामिल लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले कमिश्नर और जोनल आईजी के साथ जिले के वरीय अधिकारी नंदन गांव पहुंचे और दलित बस्ती का भी जायजा लिया। अधिकारियों ने पाया कि लगभग गांव के सभी क्षेत्रों में विकास का काम हुआ है। अधिकारी यह जानने को बेताब थे कि जब विकास हुआ तो फिर उपेक्षा के नाम पर पथराव कैसे हुआ। मामले की तह तक पहुंचने के लिए अधिकारियों ने पथराव प्वाइंट पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी और पुलिसकर्मियों के बयान को कलमबंद किया है। गांव में अन्य लोगों से बात कर यह जानने की कोशिश की गई कि घटना के पीछे के कारण क्या है।

%d bloggers like this: