हड़ताल का असर, रास्ते में फंसा ट्रक

बाजार में सामानो की किल्लत शुरू

बिहार। बिहार राज्य मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन और विभिन्न जिलों के ट्रक एसोसिएशन के आह्वान पर गुरुवार को सूबे के डेढ़ लाख से अधिक ट्रकों के पहिए थम गए। हड़ताल के चलते राजधानी समेत सूबे के विभिन्न जिलों में पहुंचने वाले हजारों ट्रक रास्ते में फंस गए हैं।
राजधानी की विभिन्न मंडियों और बाजार समितियों में पहुंचने वाले करीब तीन हजार ट्रक रास्ते में जहां-तहां फंसे रहे। हड़ताल का असर यह रहा कि मंडी में आलू, प्याज और फल नहीं पहुंचने से अधिकांश मंडी में सामानो की किल्लत शुरू हो गई। राजधानी सहित सूबे के अन्य इलाकों में भी कमोबेश यही हाल है। शहर की अन्य मंडियों में भी फलों की आवक कम हो गई है।
सूत्र बतातें हैं कि आज से ट्रक हड़ताल का असर भयावह हो जाएगा। बाजार समिति में फल व सब्जियों की जबरदस्त किल्लत होने की आशंका जताई जारही है। कारोबार के जानकार बतातें हैं कि रोजाना सेव की 15 से 20 गाड़ियां, केला के 20 ट्रक, संतरा व मौसमी के 20 ट्रक, मछली के 10 ट्रक पहुंचते हैं। इसके अलावा-आलू प्याज के करीब 100 गाड़ियां रोज आती हैं।