दिल्ली की अभूतपूर्व निगेहबानी

विमान रोधी प्रणाली और शार्पशूटर्स तैनात

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में आज 69वें गणतंत्र दिवस समारोहों के लिए सुरक्षा के अभूतपूर्व प्रबंध किये गए हैं। किसी भी आतंकी हमले या अप्रिय घटना को रोकने के लिए हजारों की संख्या में सुरक्षाकर्मियों ने चप्पे चप्पे पर नजर रखा। राजपथ से लाल किला तक मोबाइल हिट टीम, विमान-रोधी प्रणालियों और शार्पशूटर्स को तैयार रखा गया है।

बतातें चलें कि आसियान देशों के नेता आज गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि हैं, ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था को अचूक बनाने में कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखा गया है। बड़ी संख्या में सीसीटीवी कैमरों की मदद से परेड मार्ग से होकर गुजरने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही है। इतना ही नही बल्कि, हवाई क्षेत्र को सुरक्षित बनाने के लिए विमान-रोधी तोपों सहित हवाई सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गए हैं। इस कार्य में दिल्ली पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों के 60 हजार जवानों को तैनात किया गया है। हवा में उड़ने वाली वस्तुओं की पहचान करने के लिए ड्रोन-रोधी तकनीक का भी इस्तेमाल किया जा रहा है।
स्मरण रहें कि गणतंत्र दिवस परेड पर मुख्य अतिथि के रूप में दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्र संघ (आसियान) देशों के नेता शामिल हो रहे हैं । इसमें थाईलैंड, इंडोनेशिया, सिंगापुर, ब्रुनेई, लाओस, म्यामां, कंबोडिया, मलेशिया, फिलीपींस और वियतनाम के शीर्ष नेतृत्व एक साथ पहली बार गणतंत्र के मौके पर मौजूद हैं।

%d bloggers like this: