पलभर पहले तक साथ पढ़ने वाले, अगले ही पल कहां चले गये?

मासूम स्कूली छात्रो की आंखो में आज भी तैर रहा है वह दर्दनाक मंजर मीनापुर। …अनिशा मेरी दोस्त थी। हम दोनो एक ही क्लाश में पढ़तें थे। घटना के रोज शनिवार को भी हम दोनो […]