ऐसा कपड़ा जो दिखाई नही पड़ता

अमेरिका। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के प्रोफेसर एलन गोरोडेट्स्की ने एक ऐसे सौम्य कपड़े का आविष्कार किया है जो गायब हो जाता है यानी किसी को भी दिखाई नहीं देता।

यही नहीं यह कपड़ा अपने द्वारा प्रतिबिंबित किए जाने वाले ताप के तरीके में बदलाव कर सकता है। इस लिबास को उस उपकरण की मदद से भी नहीं देखा सकता जो रात में महीन और बारीक चीजों का भी पता लगा लेते हैं। इस आविष्कार से जुड़ा रिपोर्ट साइंस पत्रिका में प्रकाशित होते ही विज्ञान जगत में खलबली मच गयी है।
समुद्री जीव स्कि्वड के गुण- स्वभाव से प्रेरित होकर वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कपड़ा विकसित किया है जो गायब हो जाता है यानी किसी को भी दिखाई नहीं देता। यह सौम्य और महीन कपड़ा खींचे जाने या बिजली से चालू करने पर एक सेकेंड के अंदर अपनी सतहों को बहुत तेजी से सपाट बना या सिकोड़ सकता है। कपड़े की इस विशेषता के कारण इंफ्रारेड रात्रि दृष्टि उपकरणों के जरिए भी उनका पता नहीं लगाया जा सकता। साथ ही यह कपड़ा अपने तापमान में फेरबदल भी कर सकता है।
कहा जा रहा है कि यह आविष्कार सैन्य टुकड़ियों के बेहतर ढंग से छिपने में मददगार साबित हो सकता है। साथ ही यह अंतरिक्षयानों के लिए बेहतर इंसुलेशन उपलब्ध कराने या भंडारण के लिए बेहतर साबित होने वाला है। हीटिंग व कूलिंग सिस्टम के निर्माण में भी यह सहायक हो सकता है। यानी, अब वह दिन दूर नही जब कोई हमारे बहुत करीब आकर भी हमसे छिपा रह सकता है और हमारे बारे में सभी कुछ ज्ञात भी कर सकता है।

%d bloggers like this: