भूकंप की जानकारी देगी नई टेक्नोलॉजी

लंदन। भूकंप का पूर्वानुमान लगाना अब नामुमकिन नही रहेगा। वैज्ञानिकों ने अब एक ऐसी ऑर्टिफिशियल इंटेलिजेंस प्रणाली विकसित की है जो भूकंप का पूर्वानुमान लगा सकती है। प्रौद्योगिकी के क्षेत्र की यह प्रगति प्राकृतिक आपदाओं के लिए तैयार रहने और जीवन बचाने की संभावना में मददगार साबित हो सकती है। अध्ययन में एक छुपे हुए संकेत की पहचान की गई जो भूकंप आने की सूचना देता है। इस संकेत का इस्तेमाल अल्गोरिद्म समझने वाली मशीन को तैयार करने के लिए किया गया जो अल्गोरिद्म की मदद से, भविष्य में आने वाले भूकंपों का पूर्वानुमान लगा सकती है।
ब्रिटेन के कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय और अमेरिका के बोस्टन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने भूकंपों के परस्पर प्रभाव, इससे जुड़े विभिन्न पहलुओं का अध्ययन किया, जिससे भूकंप का पूर्वानुमान लगाने का तरीका विकसित किया जा सके। शोधकर्ताओं ने बताया कि अल्गोरिद्म समझने वाली मशीन, भूकंप आने से कई घंटे पहले सुनाई दी जाने वाली आवाज की पहचान कर सकती है, जिसे अब तक केवल शोर ही समझा जाता था। इस आवाज के पैटर्न के जरिए यह समझा जा सकता है कि भूकंप आने में कितना समय बचा है। साथ ही इसकी तीव्रता का अनुमान भी लगाया जा सकता है। यह अध्ययन जियोफिजिकल रिव्यू लेटर्स में प्रकाशित हुआ है।