नमाज के दौरान मस्जिद पर आतंकी हमला

आतंकियों ने 235 लोगों को मौत के घाट उतारा

मिस्त्र। मिस्र के उत्तरी इलाके में स्थित सिनाई प्रांत में आतंकियों ने शुक्रवार को नमाज के दौरान एक मस्जिद पर बम से हमला कर दिया। इसमें 235 लोगों की मौत हो गई। इस हमले में 109 अन्य जख्मी भी हुए हैं। मिस्त्र में हुए इस घटना के बाद आतंक का घिनौना चेहरा एक बार फिर से दुनिया को झकझोर रहा है। विश्व बिरादरी ने इसका पुरजोर बिरोध किया है।

आतंकी ने नमाजियों को बनाया निशाना

अलआरिश शहर से करीब 40 किलोमीटर पश्चिम में स्थित अल रौदा मस्जिद के समीप यह बम रखा गया था, जो नमाज के दौरान फट गया। उस समय मस्जिद में जुमे की नमाज पढ़ने के लिए बड़ी तादाद में लोग एकत्र थे। धमाके के बाद मौके से भागने की कोशिश कर रहे लोगों पर संदिग्ध आतंकियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि आतंकी चार वाहनों में सवार होकर आए थे।

निशाने पर सुरक्षा बल

एक रिपोर्ट में कहा गया कि ऐसा लगता है कि आतंकवादियों के निशाने पर सुरक्षा बलों के समर्थक थे, जो इस मस्जिद में नमाज पढ़ रहे थे। हमले में मस्जिद को भी काफी नुकसान पहुंचा है। इसको देश में पिछले चार साल में चरमपंथी समूहों द्वारा किया गया सबसे भीषण हमला माना जा रहा है। बतातें चलें कि इस्लामिक स्टेट आईएस के लड़ाको ने इससे पहले भी यहां सैकड़ों पुलिसकर्मियों व सैनिकों समेत कई नागरिकों को मार चुका है। आईएस के लड़ाके यहा रहने वाले सुन्नी समुदाय के उदारवादी सूफी मत को मानने वाले और ईसाइयों को निशाना बनाता रहा है।